लापरवाही के चलते कुत्तो के काटने से एक गौवंश की मौत।

0
75

औरैया : प्रदेश सरकार के द्वारा गायों को संरक्षण देने के लिए खोली गई गौशाला में देख रेख के आभाव में गौवंश दम तोड़ रहे है। मृत गौवंशो को कुत्ते खा रहे हैं। लेकिन उनकी सुध लेने वाला कोई नही है। ऐसा ही एक मामला नगर पंचायत फफूंद की गौशाला का है, जहा पर एक गोवंश को कुत्ते नोच रहे थे। जिसको जिलापंचायत सदस्य के देखने पर उन्होंने प्रशासन को अवगत कराया। नगर पंचायत फफूंद के द्वारा नगर के कोठीपुर मार्ग पर एक गौशाला बनाई गई है। जिसमे 96 गोवंश है। जिनकी देख रेख के लिए चार गौसेवक संजय, अरुण,मिथुन,राजकुमार बाल्मीकि तैनात हैं। बीती रात्रि जंगली जानवर ने एक गाय को काट लिया जिससे उसकी मौत हो गई। सुबह मॉर्निंग वॉक पर गये जिला पंचायत सदस्य बलवीर राजपूत ने देखा कि नगर पंचायत की गौशाला के परिसर में खुले में पड़ी गाय को कुत्ते नोच रहे हैं। और वहां पर कोई भी कर्मचारी मौजूद नही था। उन्होंने तत्काल कुत्तो को भगाया तथा प्रशासन को खबर की यह खबर मिलते ही सेवादार संजय,अरुण, मिथुन,राजकुमार, बाल्मीक गौशाला में आये गौशाला में आये। गौसेवकों से जब इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने बताया की हम लोग रात में डर लगने की वजह से यहां पर नही रुकते हैं। अपने अपने घर पर चले जाते हैं। मृत गाय की खबर शोशल मीडिया में वायरल होते ही पशु चिकित्सा अधिकारी बृज भूषण यादव व ईओ बलवीर सिह गौशाला में पहुचे और गायों को देखा। एक गौवंश बीमार पड़ी थी। बताया गया कि इस गाय को एफसीस नामक बीमारी हो गई है। तथा दो गौवंश कमजोर थे। तथा दाना व भूसा देखा जो मौके पर था। डॉ0 बृज भूषण यादव ने बताया कि एक गाय जिसको जंगली जानवर ने रात्रि में काट लिया जिससे उसकी मृत्यु हो गई थी। उसका पोस्टमार्टम करके दफना दिया गया है। दो गौवंश कमजोर है तथा एक गाय को एफसीस हो गया है। जिसका इलाज किया जारहा है। ईओ बलवीरसिंह ने कहा कि गौशाला में 96 गाय थी जिसमे से एक गाय को जंगली जानवर ने काट लिया है जिससे उसकी मृत्यु हो गई थी। गौशाला में पर्याप्त चारा है व दाना है जो गोवंशों को दिया जारहा है। चार गौसेवक है। रात्रि में जिस गौसेवक की ड्यूटी थी और वह यहां क्यो नही था उसके विरुद्ध कार्यवाही की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here