पौराणिक सोनेस्वर महादेवा मंदिर में दर्शन के लिए उमड़ा आस्था का जनसैलाब।

0
152

बाराबंकी : पौराणिक सोनेस्वर महादेवा मंदिर में दर्शन के लिए उमड़ा आस्था का जनसैलाब सोनेस्वर महादेवा मंदिर में कई जिलों से लाखों श्रद्धालु आकर पवित्र शिवलिंग पर जल चढ़ाते हैं और रुद्रभिषेक कराते हैं व अपनी मनोकामना पूर्ती का वरदान भोले शंकर महादेव से मांगते हैं।बाराबंकी की पावन धरती जिसका इतिहास पौराणिक गाथाओं से भरा पड़ा है। पाण्डवकाल से लेकर सतयुग तक कई देवताओं और महापुरुषों ने बाराबंकी में अपने कदम रखकर इस धरती को धन्य कर दिया। इसी क्रम में बाराबंकी जिला मुख्यालय से लगभग 50 किलोमीटर दूर हैदरगढ़ के त्रिवेदीगंज क्षेत्र के शिवनाम में स्थित हजारों वर्षों पुराना पौराणिक सोनेस्वार महादेव मंदिर जिसको योगिनी मंदिर के नाम से भी जाना जाता है जो अपने आप में कई ऐतहासिक किवदंतियां समेटे हुए है। सावन के महीने में कई अन्य जनपदों से लाखों श्रद्धालु भी यहां आकर पवित्र शिवलिंग पर जल चढ़ाते हैं और रुद्रभिषेक कराते हैं व अपनी मनोकामना पूर्ती का वरदान भोले शंकर महादेव से मांगते हैं शिवभक्तों के लिए बड़ा महत्त्वयहां पर मंदिर में दर्शन से पहले श्रद्धालु योगिनी सरोवर तालाब पर जाकर स्नान करते हैं और उसके बाद अपने इष्टदेव भगवान भोलेनाथ की पूजा करते हैं। सोनेस्वर मंदिर के पुजारी गोस्वामी जी के अनुसार महाशिवरात्रि का शिवभक्तों के लिए बड़ा महत्त्व है। इस दिन भगवान शिव हर शिवलिंग में विराजते हैं। इस दिन बेलपत्र धतूरा और शमी की लकड़ी से भगवान का पूजन किया जाता है। आज महाशिवरात्रि के चलते दूर दराज और कई अन्य जनपदों से हजारों श्रद्धालुओं का सुबह 3 बजे से ही यहां जनसैलाब उमड़ पड़ा और सारा मंदिर क्षेत्र बम भोले और जय भोलेनाथ की ध्वनि से गुंजायमान हो उठा। पवित्र शिवलिंग के दर्शन करने की मानों होड़ सी लगी हो। वहीं किसी भी अव्यवस्था से निपटने के लिए पुलिस और जिला प्रशासन के आलाधिकारिओं ने व्यापक प्रबंध कर रखे हैं। वही लोनी कटरा पुलिस प्रशासन अपने जवानों व महिला कांस्टेबलो के साथ चप्पे चप्पे पर बहुत ही मुस्तैदी के साथ खड़ा होकर सुरक्षा व्यवस्था को चाक चौबंद करने में लगा हुआ दिखाई दे रहा है जिससे मंदिर में दर्शन करने आए श्रद्धालुओं को किसी भी प्रकार की समस्याओं का सामना करना ना पड़े।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here