शिक्षको ने शिक्षा सेवा विधेयक की जलाई प्रतियां

0
61

औरैया फफूंद : शिक्षा सेवा आश्रम विधेयक 2021 के विरोध में शिक्षक महासंघ के नेतृत्व में प्राथमिक शिक्षक संघ और माध्यमिक शिक्षक संघ के अध्यापकों ने प्राथमिक शिक्षक के जिला अध्यक्ष अखिलेश यादव के नेतृत्व में जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय ककोर में नारेबाजी करते हुए विधेयक की प्रतियां जलाई। जिला अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शिक्षकों को संबोधित करते हुए कहा कि शिक्षा सेवा अधिकरण विधेयक बनाकर सरकार की मंशा शिक्षक व शिक्षणेत्तर कर्मचारियों के लंबित मामलों का निस्तारण करना नही अपितु अपनी मनमानी चलाना है। सत्ता का केंद्रीय करण लोकतंत्र के लिए सही नही है। यह गठन का निर्णय न्यायपालिका के अधिकार क्षेत्र में अनावश्यक हस्तक्षेप होगा व अधिकरण के कर्मचारियों में निरंकुशता व लेन- देन की प्रवृत्ति को बढ़ावा देने का कार्य करेगी। पिछले अनुभव बताते हैं कि अधिकरण जिस उद्देश्य से बनाये गए,वे उसे पूरा करने में असफल रहे। सुप्रीमकोर्ट भी अधिकरणों की प्रासंगिकता पर टिप्पणी कर चुका है। न्यायालय में लंबित अगर मामले हैं तो पीठ की संख्या बढ़ानी चाहिए,न कि उसके पैरलल अधिकरण का गठन कर देना चाहिए। न्यायालय में लंबित सभी शिक्षकों व शिक्षणेत्तर कर्मचारियों के मामले(33हजार प्रयागराज में व 15 हजार लखनऊ खंडपीठ में)अधिकरण में स्थानांतरित कर दिए जाएंगे जिनकी सुनवाई के लिए 9 रिटायर ब्यूरोक्रेट्स होंगे जिन्हें न तो न्यायिक कार्य का अनुभव है न ही जानकारी है। इससे सरकार की मंशा साफ दिख रही है । कर्मचारियों के लिए न्याय के दरवाजे बंद हो जाएंगे। इसके निर्णय से आहत या प्रभावित ब्यक्ति कहाँ अपनी गुहार लगाएगा यह भी स्पस्ट नही है। न्यायपालिका लोकतंत्र का सबसे मजबूत व विश्वसनीय आधार स्तंभ है जिसके अधिकार क्षेत्र में अतिक्रमण कर्मचारियों के हितों के साथ ही साथ लोकतंत्र के लिए भी घातक है। इस मौके पर प्रतियां जलाने में प्राथमिक शिक्षक संघ के जिला मंत्री अरविंद राजपूत,माध्यमिक शिक्षक संघ के मंत्री सादेश्य सिंह सेंगर, सुनील यादव,अशोक भास्कर,त्रिलोक बाजपेई,अजय मिश्रा,छत्रपाल,राजू उपाध्याय,नीरज चक,निर्मल पांडेय,आभिषेक यादव,अनिल यादव,संजय सेंगर,वीरपाल यादव,पहचान सिंह, हरनारायण सिंह,दीपक दुबे,ओमेंद्र सिंह चौहान,अरविंद दुबे,अरुण यादव, राजू शाक्य,सुदीप कुमार,विक्रांत पोरवाल,कमलेश चतुर्वेदी,बुद्धि पाल यादव,आजाद अली,आरिफ सिद्दीकी,ओम नारायण पाल,राहुल त्रिवेदी,सौरभ त्रिपाठी,शिव कुमार,पांडे नफीस सिद्दीकी,के.के यादव,कपिल यादव,हरनारायण सिंह,महेश शर्मा,नरेश यादव,पुष्पेंद्र यादव,अमरेंद्र तिवारी,सक्षम राजपूत सहित सैंकडों शिक्षक मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here