धूमधाम से मनाया विश्व महिला दिवस

0
658

औरैया फफूंद : नगर के अछल्दा फफूंद मार्ग पर स्थित माँ आर० के० देवी महाविद्यालय टीकमपुर में सोमवार को विश्व महिला दिवस के अवसर पर महाविद्यालय के सभागार में एक भव्य कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमे महाविद्यालय की समस्त विभाग की छात्राओं ने सम्मिलित होकर कार्यक्रम को सफल बनाया। कार्यक्रम की शुरुआत अध्यक्षा शैलेंद्र पांडे के द्वारा माँ सरस्वती के चित्र पर दीप प्रज्वलित कर की गई जिसके बाद छात्र-छात्राओं द्वारा वंदना एवं स्वागत गीत प्रस्तुत किए गए तथा छात्रा समूह से छात्राओं ने महिला व्यक्तित्व के सर्वांगीण विकास हेतु विविध तरह के उपागम एवं उदाहरण प्रस्तुत किए। कार्यक्रम में अध्यक्षता मातृशक्ति के रूप में श्रीमती शैलेंद्री पांडेय द्वारा की गई जबकि मुख्य अतिथि के रूप में बी०एड० की छात्रा नेहा यादव को मंचासीन किया गया वहीं कार्यक्रम में मुख्य वक्ता के रूप में जयंती मिश्रा को मंचासीन किया गया तथा अंजलि कमल को विशिष्ट अतिथि के रूप में मंचासीन किया गया। आमंत्रित अतिथियों में प्रतिमा तिवारी ने मंच पर स्थान ग्रहण किया। कार्यक्रम का संचालन मिस सौम्या भदोरिया द्वारा किया गया तथा कार्यक्रम को सफलतापूर्वक संपन्न कराने में मिस प्रिया पोरवाल, धीरेंद्र तिवारी, विवेक दुबे एवं अमित सेंगर सहित आशीष बाजपेई का विशेष योगदान रहा। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में मंचासीन मिस नेहा यादव द्वारा महिलाओं को हर कार्य में बढ़ चढ़कर हिस्सा लेने के लिए प्रेरित करते हुए बताया गया कि आज देश ही नहीं विश्व के समस्त देशों में महिलाएं अपने आप को स्थापित और साबित करती हुई देश संचालन में एवं उद्योग संचालन में अपनी महत्वपूर्ण भूमिकाओं का निर्वहन कर रही हैं। उन्होंने छात्राओं से विशेष अपील कर कहा कि किसी भी तरह के आलोचना से घबराए बिना अपने निर्धारित लक्ष्यों की प्राप्ति की ओर सदैव अग्रसर रहें अटल विश्वास व समर्पण से किसी भी लक्ष्य को हासिल किया जाना संभव होता है। मुख्य वक्ता जयंती मिश्रा ने ओलंपिक एथलीट दीपा करमाकर का उदाहरण देते हुए छात्राओं को प्रेरित किया तथा महाविद्यालय कि प्रत्येक गतिविधियों मैं अनिवार्य रूप से बढ़-चढ़कर प्रतिभाग करते हुए स्वयं को स्थापित करें एवं साबित करें जिससे उनके सहित महाविद्यालय का नाम रोशन हो सके। कार्यक्रम के अंत मे आमंत्रित अतिथि श्रीमती प्रतिमा तिवारी द्वारा एक कहानी के माध्यम से छात्राओं को प्रेरित किया गया। अंजलि कमल द्वारा बहुत ही सुंदर प्रस्तुति के माध्यम से सभागार को तालियां बजाने पर मजबूर कर दिया। कार्यक्रम के अंत में छात्राओं के सामूहिक गायन ने सभागार का माहौल ही खुशनुमा कर दिया। अध्यक्षीय संबोधन में श्रीमती शैलेंद्री पांडेय ने बहुत प्रेरक प्रसंगों के साथ अपने दांपत्य अनुभवों को साझा करते हुए महिला की गरिमा, लज्जा, त्याग, समर्पण एवं शक्ति के सामंजस्य की अद्भुत व्याख्या की एवं प्रेरक भजन गाया। महाविद्यालय के संस्थापक डॉ० जय गोपाल पांडेय ने आए हुए सभी अतिथियों एवं कार्यक्रम में सहभागिता करने वाली समस्त छात्राओं को साधुवाद देते हुए धन्यवाद ज्ञापित किया एवं सफल भविष्य की शुभकामनाएं के साथ स्वल्पाहार कराया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here