उत्पीड़न से क्षुब्ध होकर सफाई कर्मचारी ने पेट्रोल डालकर लगाई आग।

0
670

बाराबंकी : सहायक विकास अधिकारी पंचायत त्रिवेदीगंज के कार्यालय द्वारा किये जा रहे उत्पीड़न से क्षुब्ध एक सफाई कर्मी ने एडीओ पंचायत के कार्यालय में ही खुद को आग लगा ली जिसके बाद ब्लॉक मुख्यालय पर अफरा-तफरी का माहौल कायम हो गया। गंभीर हालत के चलते सामुदायिक स्वास्थ केंद्र त्रिवेदीगंज में प्राथमिक उपचार के बाद घायल सफाई कर्मी को ट्रामा सेंटर लखनऊ के लिए रिफर कर दिया गया। गंभीर रूप से जले सफाई कर्मी के बयान का वीडियो बनाकर मुकामी पुलिस ने जांच पड़ताल शुरू कर दी है। ब्लॉक मुख्यालय पर ही सफाई कर्मी के रूप में तैनात असलम ने एडीओ पंचायत कार्यालय के अंदर स्वयं को आग के हवाले कर दिया जिसके बाद कार्यालय परिसर में अफरा-तफरी का माहौल कायम हो गया। आनन-फानन में सफाई कर्मी असलम को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र त्रिवेदीगंज ले जाया गया जहां पर पहुंची लोनी कटरा पुलिस ने उक्त सफाई कर्मी का बयान दर्ज किया। असलम ने बताया कि पिछले एक साल के दौरान उसका चार बार तबादला किया जा चुका है और सुविधा शुल्क उपलब्ध कराने के बाद तबादला रोक दिया जाता है। ट्रामा सेंटर में भर्ती असलम ने बताया कि एडीओ पंचायत द्वारा उसके साथ बहुत ही अन्याय किया जाता है सुबह 7:00 बजे से लेकर शाम 7:00 बजे तक उससे काम कराया जाता है यही नहीं उससे चाय भी बनवाई जाती हैं। एडीओ पंचायत कार्यालय में हर समय मौजूद रहने वाले मायाराम राजेंद्र विजय इबरार रणबीर द्वारा उसका जबरदस्त शोषण किया जाता है जिससे परेशान होकर उसको यह कदम उठाना पड़ा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here