प्रदर्शन कर सपा व्यापार प्रकोष्ठ ने राज्यपाल को भेजा ज्ञापन

0
707

संवाददाता : शादाब अहमद

औरैया : समाजवादी पार्टी व्यापार सभा के नेतृत्व में गुरुवार को पदाधिकारियों ने हंगामी प्रदर्शन कर केंद्र व प्रदेश सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। इस दौरान संगठन के पदाधिकारियों ने लगातार बढ़ रही महंगाई पर केंद्र व प्रदेश सरकार को जमकर कोसा। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार जब से बनी है तब से आम आदमी तबाह हो गया है और किसानों मरने की कगार पर पहुंच गया है। उन्होंने कहा कि लगातार रसोई गैस की कीमतें बढ़ रही है यही नहीं पेट्रोल व डीजल के दाम भी अब तक के सबसे उच्चतम दरों पर पहुंच गए हैं।
ज्ञापन देने से पूर्व समाजवादी पार्टी के पदाधिकारियों ने एक बैठक की। बैठक को संबोधित करते हुए व्यापार सभा के जिला अध्यक्ष विपिन गुप्ता ने कहा कि हमारा संगठन समाजवादी पार्टी से जुड़ा हुआ है। वर्तमान में केंद्रीय बजट में प्रस्तावित व पहले से जीएसटी से संबंधित कई विसंगतियां हैं उन्होंने कहा किसी भी व्यापारी द्वारा जीएसटीआर 1 में अपनी लाइबिल्टी दिखाने और जीएसटीआर 3 बी में उसको दिखा न पाने पर जीएसटी विभाग इनके अंतर की धनराशि की बिना नोटिस दिए वसूली कर सकता है। बताया यह नियम विरुद्ध है, सरकार को वापस लेना चाहिए। उन्होंने कहा कि दिन प्रतिदिन रसोई गैस व डीजल, पेट्रोल की कीमतें बढ़ रही है। जिससे लोगों के बजट पर काफी प्रभाव पड़ रहा है। वहीं समाजवादी पार्टी के जिला अध्यक्ष राजवीर यादव ने कहा कि भाजपा सरकार ने प्रत्येक आम व्यक्ति की कमर तोड़ कर रख दी है। यदि यही हालत रही तो वह दिन दूर नहीं कि शहरों में सिर्फ पूंजीपति ही दिखाई देंगे और आम आदमी मजदूरी करता हुआ नजर आएगा। पूर्व विधायक प्रदीप यादव ने कहा कि यदि डीजल व पेट्रोल की बढ़ी हुई कीमतें सरकार द्वारा वापस नहीं ली जाती है तो समाजवादी पार्टी आंदोलन करने के लिए वाध्य होगी। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार से आम आदमी अब पूरी तरह से ऊब चुका है। इसके उपरांत समाजवादी पार्टी के पदाधिकारी व कार्यकर्ता जिलाधिकारी को ज्ञापन देने के लिए पहुंचे। मगर जैसे ही वह लोग जिला मुख्यालय पर पहुंचे तभी वहां पर मौजूद कर्मचारियों द्वारा मुख्यालय का गेट बंद कर दिया गया। इससे नाराज होकर समाजवादी पार्टी के पदाधिकारी व कार्यकर्ता गेट के सामने धरने पर बैठ कर नारेबाजी करने लगे। उन्होंने जिला प्रशासन के खिलाफ भी नारेबाजी की। इसके उपरांत सूचना पर अतिरिक्त मजिस्ट्रेट एमपी सिंह ने आकर ज्ञापन लिया। जब अतिरिक्त मजिस्ट्रेट से जानकारी चाही गई कि कर्मचारियों द्वारा गेट क्यों बंद कर दिया गया तो उन्होंने बताया करोना वापस लौट रहा है और जो लोग ज्ञापन देने के लिए आए थे उनके द्वारा किसी भी प्रकार का मास्क नहीं लगाया गया था। इसलिए जिला प्रशासन ने यह कदम उठाया। इस दौरान मुख्य रूप से अवधेश भदोरिया, अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के जिला अध्यक्ष अब्दुल सत्तार, जिला उपाध्यक्ष योगेंद्र गुप्ता , जिला सचिव अंशू ठाकुर , नगर अध्यक्ष बाबरपुर नादान वर्मा ,संजीव पोरवाल , रवि गुप्ता, छोटू नागर , नगर अध्यक्ष अशोक गुप्ता, अखिलेश सक्सेना, शोभित यादव, विकास सक्सेना, के के यादव,रितु भैया (रितेश ) सहित समाजवादी पार्टी के दो सैकड़ा से अधिक कार्यकर्ता मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here